सवाल

मैं संयुक्त परिवार में रहती हूं जिस में मेरे 2 बच्चे, पति और सासससुर रहते हैं. मेरी उम्र 43 वर्ष है और बच्चे 21 व 17 वर्ष के हैं. मैं कामकाजी महिला हूं और जब औफिस से वापस घर आती हूं तो वहां रिश्तेदारों का तांता लगा देखती हूं. सासससुर दोनों ही घर में रहते हैं और जब देखो तब किसी न किसी रिश्तेदार को फोन कर घर पर बुला लेते हैं. कभी दूर की मौसी तो कभी चाची. उन का चायनाश्ता, खानापीना सब मुझे ही देखना पड़ता है. घर का माहौल अस्तव्यस्त हो जाता है और बच्चों को पढ़ने में भी परेशानी होती है. मुझे समझ नहीं आता कि इस समस्या से कैसे बचा जाए.

ये भी पढ़ें- मैं पति की छोटी छोटी गलतियों पर गुस्सा हो जाती हूं, मैं क्या करूं ?

जवाब

आप का परेशान होना जायज है परंतु साथ ही, आप का अपने सासससुर का इस उम्र में अपने सगेसंबंधियों से मिलने की इच्छा का मान रखना भी जरूरी है. उम्र के इस पड़ाव में आ कर लोग बिजी रहना चाहते हैं. आप ने यह नहीं बताया कि बच्चे उन से बातचीत करते हैं या नहीं. ऐसा न हो कि वे अकेलापन महसूस करते हों और इस वजह से रिश्तेदारों को बुलाते हों. आप ठहरीं कामकाजी और पति के बारे में आप ने बताया नहीं कि वे क्या करते हैं. आप भी उन्हें समय नहीं देतीं और आप के पति भी हो सकता है उन से ज्यादा बातचीत न करते हों, इसलिए वे ज्यादा अकेलापन महसूस करते हों. इस स्थिति में आप अपने सासससुर से बात कर के उन्हें अपनी परेशानी से अवगत कराएं. उन से यह कहें कि वे हफ्ते में केवल एक या दो दिन ही किसी रिश्तेदार को घर पर बुलाएं जिस से न आप को परेशानी होगी और न ही आप के सासससुर की इच्छा का अनादर होगा. वे बड़े हैं, इस बात को समझेंगे. साथ ही, बच्चों से कहें कि वे उन से बातचीत करें. घुलमिल कर आप सभी एकदूसरे को समय देंगे तो इस समस्या का हल अपनेआप ही हो जाएगा.

ये भी पढ़ें- एक लड़की ने मुझे प्रपोज किया और मैंने उसे फटकार लगा दी. पर अब मैं उससे प्यार करने लगा हूं. मैं क्या करूं?

Tags:
COMMENT