छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आदिम जाति कल्याण विभाग के रिटायर्ड कर्मचारी का अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने का मामला पुलिस ने उजागर किया है. यहां के एक रिटायर्ड ड्राफ्टमैन को भिलाई निवासी  दंपति ने ब्लैकमेल अर्थात भय दोहन कर लगभग डेढ़ लाख  रुपए झटक लिए . और जैसा की ब्लैकमेलिंग के मामलों में अक्सर होता है. शिकारी शिकार  पर अपना फंदा  कस्ता ही चला जाता है उसकी लालच निरंतर बढ़ती चली जाती है और वह चाहता है कि मैं अपने शिकार को पूरी तरह निचोड़ लूं.  यही लालच उसके गले का फंदा बन जाती है, रायपुर के इस ब्लैक मेलिंग के प्रकरण में भी कुछ ऐसा ही हुआ. पूरा मामला जानने से पूर्व आपका यह जानना बहुत जरूरी है की पुलिस को शक है यह दंपत्ति पूर्व में भी कई लोगों को अपना शिकार बना चुका है,जिसकी पड़ताल जारी है.

शिकार ने दे दिए डेढ़ लाख रुपए

ब्लैकमेलिंग का शिकार  ड्राफ्टमैन परिमल कुमार को जब लगा कि यह भय दोहन का मामला उसके जीवन को बर्बाद कर देगा तब जाकर उसने  इसकी शिकायत राजधानी रायपुर के सिविल लाइन थाने में दर्ज कराई. पुलिस ने शिकायत के पश्चात  इस मामले को  संज्ञान में लिया  और जांच-पड़ताल  प्रारंभ हो गई पुलिस के अनुसार आरोपी दंपत्ति तपन मजूमदार और रूपा मजूमदार दो महीने से रिटायर्ड ड्राफ्टमैन को पैसों के लिए ब्लैकमेल कर रहे थे. औल और सुबूत मिलते ही पुलिस ने ब्लैक मेलिंग करने वाले दंपत्ति को अपनी गिरफ्त में ले लिया.

प्रार्थी परिमल कुमार ने  हमारे संवाददाता को बताया कि वह लगभग डेढ़ लाख रूपए दे चुका था. लेकिन इसके बाद भी आरोपी पैसों की मांग लगातार कर रहे थे. यही नहीं पैसा न देने पर सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल करने की धमकी लगातार दंपत्ति द्वारा दी जा रही थी. जब आरोपी बाज नहीं आए तो पीड़ित को विवश होकर मामला दर्ज करवाना पड़ा. इस मामले में महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि आरोपी रूपा मजूमदार ने परिमल कुमार के साथ पहले दोस्ती की और फिर छत्तीसगढ़ के अम्बिकापुर और भिलाई में अश्लील वीडियो स्वयं बनाया था.

ये भी पढ़ें- शक के कफन में दफन हुआ प्यार

ब्लैक मेलिंग अर्थात भया दोहन एक गंभीर अपराध

छत्तीसगढ़ विशेष का राजधानी रायपुर के पुलिस इन दिनों दया दोहन ब्लैकमेलिंग के प्रकरणों पर कुछ विशेष ध्यान दे रही है क्योंकि यह समाज का एक बड़ा नासूर माना गया है अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर के अनुसार ब्लैक मेलिंग ही अनेक अपराधों का मूल होती है. सिविल लाइन थाने में परिमल की रिपोर्ट पर मजूमदार दंपत्ति के खिलाफ धारा 384 ,34 का केस दर्ज किया गया है.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने जानकारी दी कि अश्लील वीडियो ब्लैकमेल करने वाले दंपत्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपी दंपत्ति भिलाई के स्मृति नगर के रहने वाले हैं. यह तथ्य भी सामने आया है कि रिटायर कर्मचारी को नशे की दवाई खिलाकर बेहोशी की हालत में वीडियो बनाया गया था. प्रार्थी से डेढ़ लाख रूपए दंपत्ती ने ब्लैकमेलिंग कर वसूले थे. इस मामले में आरोपी दंपत्ति तपन मजूमदार रूपा मजूमदार को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है.

ये भी पढ़ें- शक के कफन में दफन हुआ प्यार

Tags:
COMMENT